LATEST NEWSउत्तर प्रदेश

डाक्टरों ने पेश की मानवता की मिसाल

*ब्रेकिंग न्यूज़*

*बीमारी से ग्रसित एक गरीब महिला अपने 11 माह के बच्चे को इलाज को लेकर पहुंची सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सेमरियावां*

*सामुदायिक स्वास्थ्य केंद सेमरियावां में पहुँचकर कराई इलाज*

*इलाज के दौरान डाक्टरों ने बताया डिहाइड्रेशन व तेज बुखार*

*डाक्टरों ने हालत गम्भीर देखकर रिफर करने को कहा परन्तु डाक्टरों ने गरीब,असाह घबराई हुई महिला को देखकर रेफर कैंसिल कर इलाज करना शुरू कर दिया*

*डाक्टरों ने 11 माह के बच्चे को बचाने में सफल रहे*

*इस तरह 11 माह के बच्चे को बचाकर अन्य डाक्टरों में दिया संदेश*

*डाक्टरों पेश की मानवता की मिसाल*

रिपोर्ट, तरीकत हुसैन सिद्दीकी

चंद मिनटों के सुख के लिए
हम अपनी जिन्दगी से खिलवाड़ करते है, वो डॉक्टर ही है जो हमारी जिन्दगी को बचाने के लिए परेशान रहते है

कुछ इसी तरह खूब सटीक बैठता है सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सेमरियावां में तैनात डाक्टर हिमांशु व डाक्टर जावेद अख्तर जिन्होंने परेशान होकर 11 माह के बच्चे मो.सैफ की जान बचाकर मानवता की मिसाल पेश की है

सेमरियावां,सन्तकबीरनगर।शनिवार को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद सेमरियावां में 20 वर्षीय महिला रूकैया खातून निवासी मूड़ाडिहा बेग ने अपने बच्चे का इलाज कराने के लिए पहुँची इस दौरान वह डाक्टर हिमांशु को बच्चे को दिखाई तो डॉक्टर हिमांशु ने उसे गम्भीर हालत में देख कर रिफर करना चाहा लेकिन उसकी हालत ठीक नही थी वह असहाय,गरीब,बेसहारा और डरी हुई लग रही थी रूकैया खातून का 11 माह का बच्चा मो.सैफ जो अंतिम सांस ले रहा था उसने डाक्टर हिमांशु को दिखाई जहा डाक्टर हिमांशु ने इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया इस दौरान डाक्टर हिमांशु व डाक्टर जावेद अख्तर व वार्ड बाय अब्दुल सनी के साथ इलाज चालू कर दिया इलाज के दौरान पता चला कि बच्चा डिहाइड्रेशन बुखार से अंतिम सासे ले रहा है जब तक इमरजेंसी वार्ड में इलाज चलता रहा तब तक डाक्टर हिमांशु व डाक्टर जावेद अख्तर ने राहत की सांस नही ली अंत में उन्होंने लगातर इलाज कर 11 माह के बच्चे की जान बचा ही लिया जिससे बच्चे की माँ ने डाक्टरों को दुआओं से नवाजा इस दौरान डाक्टर हिमांशु ने बताया कि बच्चा अंतिम सांस ले रहा था जिंदगी और मौत के बीच लड़ रहा था बच्चे को बचाने में पूरा प्रयास किया गया जिससे अब बच्चा सुरक्षित है अंत मे बच्चे को बचाने में सफल रहे इस इस दौरान डाक्टर जावेद अख़्तर ने बताया बच्चे की हालत पूण रूप से ठीक नही है अभी आब्जर्वेशन रूम में इलाज के लिए रखा जा सकता है इस दौरान सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सेमारियावा के अधीक्षक डॉक्टर जगदीश पटेल ने बताया की इमरजेंसी में आने वाले मरीजों को निरन्तर जीवनदान देने का काम किया जा रहा है उन्होंने कहा कि डाक्टर जावेद अख्तर व डाक्टर हिमांशु को आगे और भी इस तरह के केसेज को बचाने का आशीर्वाद दिया

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button