लाइफस्टाइल

अप्लास्टिक एनीमिया का होम्योपैथिक चिकित्सा से सफल इलाज, जानें विशेषज्ञ की राय

शरीर में कमजोरी लग रही हो, जल्दी- जल्दी बुखार आ रहा हो या शरीर के किसी भी अंग से रक्तस्राव हो रहा हो तो आप सावधान हो जाएं। यह लक्षण अप्लास्टिक एनीमिया के भी हो सकते हैं। दरअसल, यह जानकारी केन्द्रीय होम्योपैथी अनुसंधान परिषद के साइंटिफिक एडवाइजरी बोर्ड के सदस्य डॉ.एके द्विवेदी ने दी। जो आज गुरुवार को आयोजित अंतर्राष्ट्रीय होम्योपैथिक सेमिनार को संबोधित करने पहुंचे थे।

उन्होंने बताया कि अप्लास्टिक एनीमिया बीमारी में हिमोग्लोबिन और प्लेटलेट्स कम हो जाते हैं। जो रक्तस्राव का कारण बनते हैं। इस बीमारी में नाक,कान,आंख व शरीर के किसी भी अंग में रक्तश्राव हो सकता है। डॉ. एके द्विवेदी ने बताया कि उनके पास 23 साल पहले अप्लास्टिक एनीमिया का पहला मरीज आया, जिसके मुँह के तालू से ब्लीडिंग हो रही थी।

जिसको चिकित्सकों ने बताया था कि हीमोग्लोबिन और प्लेटलेट्स कम होने के कारण रक्तस्राव बंद होना बहुत मुश्किल है और समय लग सकता है। वहीं उस मरीज को शाम को होम्योपैथिक दवा दी गई अगले दिन सुबह मरीज को निकलने वाला खून बंद हो गया।

कुछ दिन और दवाई लेने के बाद से आज तक उस मरीज को कोई परेशानी नहीं हुई। वहीं इस अवसर पर यूनाइटेड किंगडम से आए डॉ शशि मोहन शर्मा ने हैनिमैन कॉलेज ऑफ होम्योपैथी यूनाइटेड किंगडम की ओर से डॉ.एके द्विवेदी को अप्लास्टिक एनीमिया की होम्योपैथिक चिकित्सा के लिए सम्मानित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button