उत्तर प्रदेश

विशेष सचिव ने जाना जिला अस्पताल मेडिकल कालेज की व्यवस्था का हाल , कैली में डाक्टर के मास्क न लगाने पर पूछा क्या कोरोना खत्म हो गया

बस्ती। विशेष सचिव पंचायती राज विभाग और जिले के नोडल अधिकारी शाहिद मंजर अब्बास रिजवी ने जिला अस्पताल, महर्षि वशिष्ठ मेडिकल कालेज की चिकित्सा इकाई ओपेक कैली अस्पताल सहित पुराना डाकखाना स्थित मलिन बस्ती का निरीक्षण किया। जिला अस्पताल में  माड्यूलर ओटी में संचालित कोविड-19 टीकाकरण केन्द्र का निरीक्षण किया। टीका लगा रही एएनएम से टीका वेस्टेज के बारे में जानकारी ली। सीएमएस को निर्देशित किया कि यहां पंखे लगवाएं, दीवार की सीलन ठीक करवाएं। ओपीडी, दवा स्टोर रूम का निरीक्षण किया। स्टोर रूम के प्रभारी चीफ फार्मासिस्ट दवाओं की एक्सपायरी डेट का न तो रजिस्टर दिखा पाए और न ही पोर्टल। विशेष सचिव ने सोल्जर वार्ड का निरीक्षण कर भर्ती मरीजो से साफ-सफाई, भोजन, पानी के बारे में जानकारी ली। बच्चों के लिए तैयार किए गए पीकू वार्ड में एक बखार और एक निमोनिया पीड़ित बच्चे के भर्ती होने की जानकारी दी गई। सीएमएस ने बताया कि पूरे अस्पताल में 12 आरओ लगे है, जिसमें से 8 खराब है। इन्हें एक-दो दिन में ठीक करा लिया जाएगा। मरीजो की संख्या को देखते हुए और आरओ की आवश्यकता बताया।
    मेडिकल कॉलेज  की चिकित्सा इकाई ओपेक हॉस्पिटल कैली का विशेष सचिव पंचायती राज विभाग तथा जिले के नोडल अधिकारी शाहिद मंजर अब्बास रिजवी ने निरीक्षण किया। पीआईसीयू वार्ड में लगे वेंटीलेटर मॉनिटर ऑक्सीजन को देखा, स्टाफ की जानकारी ली। मेडिकल कॉलेज में 110 बेड के बने पीकू वार्ड, 10 बेड का डेंगू और मलेरिया के लिए बने वार्ड का भी निरीक्षण किया। बुखार से पीड़ित सबीना खातून उम्र 12 वर्ष ग्राम दुधरजा  थाना रुधौली भर्ती हुई थी निरीक्षण के दौरान मरीज का पल्स रेट और दवाओं के बारे में जानकारी ली निरीक्षण के दौरान बाल रोग विभाग अध्यक्ष प्रोफेसर अलका शुक्ला से मास्क न लगाने के कारण पूछ लिया कि क्या अब करोना खत्म हो चुक,ा हम सभी लोग चेहरे पर लगे मास्क  हटा सकते हैं। मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य प्रोफेसर मनोज कुमार को सख्त निर्देश दिया कि बिना मास्क कोई भी कर्मचारी अस्पताल में प्रवेश नहीं करेगा। निरीक्षण के दौरान ओपीडी की जानकारी ली जिसमें 1.30 बजे तक 410 ओपीडी की पर्ची कटा पाया गया। ऑक्सीजन प्लांट के बारे में जानकारी ली। बताया गया कि एक का संचालन शुरू है दो बनकर तैयार हैं।  मरीज न होने के कारण ऑक्सीजन का प्रयोग नहीं हो रहा है। नई विषेष सचिव ने बिल्डिंग लेक्चर हॉल को देखा, ओपीडी गेट पर और हॉस्पिटल के चारों ओर पानी भरा होने के कारण सफाई करवाने का निर्देश दिया। अस्पताल में किन चीजों की अभी आवश्यकता है इसकी जानकारी ली। मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य ने अस्पताल में बने पुराने सीवर ट्रीटमेंट के साथ कैली से सोनूपार की नाली, अस्पताल के पुराने भवन को पुनः रिपेयरिंग, अस्पताल परिसर में बंद पड़ी नाली, मेडिकल कॉलेज रामपुर में बैंक, दुकान की मांग की। बच्चों के लिए तैयार े पीकू वार्ड के निरीक्षण मेंएक बच्ची भर्ती पाई गई।
सीडीओ डॉ राजेश कुमार प्रजापति, एस डीएम सदर कैली के सीएमएस डा0 समीर श्रीवास्तव, डा0 अनिल यादव, डा0 अरुणेश कुमार, डा0 पुरुषोत्तम लाल, डा0 विनोद कुमार, डा0 जीएम शुक्ला आदि मौजूद रहे।
पुराना डाकखाना के मलिन बस्ती का विषेष सचिव ने निरीक्षण किया। साफ-सफाई, स्वच्छता, नाली निर्माण, स्ट्रीट लाइट, प्रधानमंत्री आवास आदि को देखा, वहां रहने वालों से समस्याओं की जानकारी ली।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button