उत्तर प्रदेश

गरीब, मजदूर, किसानों का जीना हराम करने वालों का सरकार जीना हराम कर देगीःयोगी ,नवनिर्मित जिला जेल समेत 245 करोड़ की योजनाओं का किया शिलान्यास, लोकापर्ण

संतकबीरनगर। सीएम योगी आदित्यनाथ ने रविवार को संतकबीरनगर जनपद पहुंचकर नव निर्मित जिला जेल का लोकार्पण और 245 करोड की योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया।
मुख्यमंत्री ने संतकबीरनगर में 126 करोड की लागत से बनी नव निर्मित जिला जेल का लोकार्पण किया, जेल समेत कुल 245 करोड की योजनाओं का लोकार्पण और शिलान्ंयास करने के बाद आयोजित सभा को सम्बोधित किया। कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश में इंसेफ्लाइटिस, मलेरिया से मौतें होती थी, उपचार का कोई माध्यम साधन नहीं था, गोरखपुर मेडिकल कालेज जर्जर मेडिकल कालेज बन कर रह गया था, यहां के लोगों को उपचार के लिए लखनऊ, दिल्ली मुम्बई जाना पडता था, आज आप देख रहे होंगे कि सरकार लगभग-लगभग हर जिले में एक मेडिकल कालेज बनाने की स्थिति में है। गोरखपुर का मेडिकल कालेज अब एक नए रूप में लोगों की सेवा कर रहा है, गोरखपुर में एम्स भी लगभग बन कर तैयार हो चुका है जिसका प्रधानमंत्री कुछ दिन में लोकार्पण करेंगे।
कहा कि अब समय बदल चुका है, साढे चार साल पहले जो सरकार थी वो भाई भतीजावाद और वंशवाद करती थी, तुष्टीकतरण के नाम पर आप के हक पर डकैती डालने का काम करती थी,गुण्डागर्दी और दंगा उत्तर प्रदेश की पहचान बन चुका था, नौजवानों की नौकरी को इनके द्वारा नीलाम कर दिया जाता था, जब नौकरी निकलती थी ,एक परिवार के लोग नौकरी लेकर जगह-जगह वसूली करने निकल पडते थे, लेकिन आज अगर कोई नौकरी नीलाम करने का प्रयास करेगा तो नौकरी तो नहीं नीलाम कर पाएगा अपने घर को जरूर नीलाम करवा देगा।कहा कि पहले माफिया सत्ता का संचालन करते थे, सत्ता इनके सामने इनकी शागिर्द बन कर दुम दबा कर चलती थी, आज जब इन माफियाओं की अवैध कमाई और घरों पर सरकारी बुल्डोजर चलता है तो माफिया उत्तर प्रदेश की धरती छोडने को मजबूर होते हैं, माफियाओं को हमारा यही संदेश है कि अगर गरीब, मजदूर और किसानों का जीना हराम करोगे तो सरकार तुम्हारा जीना हराम कर देगी।
सीएम ने कहा कि कोरोना को लेकर सरकार ने अच्छा काम किया। कल्पना करिए सपा, बसपा कांग्रेस के समय में यह महामारी आई होती तो क्या होता। जैसे आज केरल, महाराष्ट्र और दिल्ली के अंदर हुआ, अगर वैसी स्थिति आती तो क्या होता, उत्तर प्रदेश में कितने लोग मरते, जिन लोगों ने अपने परिवार को खोया है उनके प्रति हमारी संवेदना है, हर पीडित परिवार के साथ सरकार खडी है, जो बच्चे निराश्रित हुए उन बच्चों के लालन पालन की जिम्मेदारी उत्तर प्रदेश सरकार ने ली है, 4 हजार रूपए उन बच्चों को हर महीने सरकार दे रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button