उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन निविदा संविदा कर्मचारी संघ के जिला कार्यकारिणी ने अधीक्षण अभियंता के माध्यम से मुख्यमंत्री को पत्र भेज विभाग पर लगाया आरोप

बस्ती ।  उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन निविदा संविदा कर्मचारी संघ जिला कार्यकारिणी द्वारा अधीक्षण अभियंता के माध्यम से मुख्यमंत्री को भेजे गए पत्र में लिखा है कि पावर प्रबंधन द्वारा बिजली विभाग के नीतियों का पूरा उल्लंघन करते हुए कार्य कराया जा रहा है श्रमिक लेबर का विषयक अनुबंध कराए बगैर कार्य लिया जा रहा है जबकि 440 वोल्ट 11000 वोल्टेज की लाइनें स्विच गियरो तथा ब्रेकरों पर लिया जा रहा है जो अत्यंत घातक है तथा ऐसे कर्मचारियों से ही मीटर रीडिंग कंप्यूटर ऑपरेटिंग ट्रांसफॉर्मर रिपेयरिंग कार्य कराया जा रहा है जिसके फलस्वरूप मानदेय 6000 से 9700 ही दिया जा रहा है जिससे इनके परिवारों का भरण पोषण शिक्षा दीक्षा इत्यादि के विषम परिस्थितियों से जूझना पड़ता है पावर कारपोरेशन प्रबंधन द्वारा संविदा कारों से कार्य कराए जा रहे अनूरुप कार्यों का अनुबंध प्रक्रिया ना कराए जाने की स्थिति असंगत है उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन प्रबंधन द्वारा जहां एक ओर सैनिक कल्याण निगम से तैनात आउटसोर्सिंग अनुबंध 24000 का किया जा रहा है वहीं दूसरी तरफ समान कार्य समान पद पर ठेकेदारों के माध्यम से तैनात कर्मचारियों का अनुबंध मात्र 11000 तक सीमित होने के कारण असंतोष व्याप्त है कर्मचारियों के कार्य करने के दौरान दुर्घटना पर मृत्यु होने की स्थिति में कोई मुआवजा देय नहीं है ऐसे में कर्मचारी संघ ने 7 सूत्रीय मांग मुख्यमंत्री को भेजकर समस्या का निराकरण कराने की आवाज बुलंद किया है ज्ञापन सौंपने वालों में जिला अध्यक्ष रमेश चंद्र चौधरी जिला उपाध्यक्ष शैलेंद्र यादव एवं जयप्रकाश जिला उपाध्यक्ष विजय कुमार जिला संगठन मंत्री घनश्याम जिला सचिव अभिषेक सिंह जिला मीडिया प्रभारी पेशकार आदि मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button