उत्तर प्रदेश

परचम कुशाई की रस्म से होगा उर्स-ए-रज़वी का आगाज़।

दरगाह आला हज़रत
बरेली शरीफ

आला हज़रत फ़ाज़िले बरेलवी का 103 वॉ उर्स-ए-रज़वी 2,3 और 4 अक्टूबर को शासन की गाइड लाइन के अनुसार इस्लामिया मैदान व दरगाह आला हज़रत पर मनाया जाएगा। उर्स की सभी तकरीबात दरगाह प्रमुख हज़रत मौलाना अल्हाज़ सुब्हान रज़ा खान (सुब्हानी मियां) की सरपरस्ती व सज्जादानशीन मुफ्ती अहसन रज़ा क़ादरी (अहसन मियां) की सदारत व उर्स प्रभारी सय्यद आसिफ मियां की निगरानी में अदा होगी। कल बरोज़ जुमा उर्स की पूर्व संध्या पर देर रात रूहानी महफ़िल में आला हज़रत के मजार शरीफ पर ग़ुस्ल व संदल पेश किया जाएगा। उर्स का लाइव ऑडियो प्रसारण भी किया जाएगा लोग अपने अपने घरों से भी उर्स के प्रोग्राम सुन सकेंगे।
मीडिया प्रभारी नासिर कुरैशी ने जानकारी देते हुए बताया कि तीन रोज़ा उर्स का आगाज़ 2 अक्टूबर को शाम 5 बजे इसलामिया मैदान में परचम कुशाई की रस्म से होगा। परचम आज़म नगर हाजी अल्लाह बख्श के निवास से आएगा। दरगाह प्रमुख हज़रत मौलाना सुब्हान रज़ा खान (सुब्हानी मियां) सज्जादानशीन मुफ्ती अहसन मियां व उलेमा की मौजूदगी रस्म अदा करेगें। बाद नमाज़ ए मग़रिब महफ़िल-ए- मिलाद होगी। रात 10.35 पर हुज्जातुल इस्लाम का कुल शरीफ होगा। इसके बाद तरही नातिया मुशायरा मुफ्ती सलीम नूरी, मुफ्ती आकिल रज़वी,मुफ्ती अनवर अली,मुफ्ती सय्यद कफील हाशमी के ज़ेरे निगरानी शुरू होगा। मुशायरा का मिसरा तरही होगा ” फैले हुए है हाथ तिरे दर के सामने”
3 अक्टूबर (इतबार):- बाद नमाज़-ए-फ़ज़्र कुरानख्वानी होगी। इसके बाद सुबह 8 बजे महफ़िल का आगाज़ होगा। 9 बजकर 58 मिनट पर रेहान-ए-मिल्लत व 10 बजकर 30 मिनट पर हज़रत जिलानी मियां के कुल शरीफ की रस्म अदा की जाएगी। दिन में कार्यक्रम जारी रहेगें। इसी दिन रात 9 बजे देश भर के नामवर उलेमा की तक़रीर होगी। रात 1 बजकर 40 मिनट पर मुफ्ती-ए-आज़म हिन्द के कुल शरीफ की रस्म अदा होगी।
4 अक्टूबर सोमवर:- बाद नमाज़-ए-फ़ज़्र कुरान ख्वानी होगी। दिन में देश की मशहूर खानकाहों के सज्जादागान व उलेमा की तक़रीर होगी। दोपहर 2 बजकर 38 मिनट पर आला हज़रत के कुल शरीफ की रस्म के साथ 3 रोज़ा उर्स का समापन होगा।
उर्स की व्यवस्था में हाजी जावेद खान,परवेज़ खान नूरी,औरंगजेब नूरी,शाहिद नूरी,अजमल नूरी,ताहिर अल्वी,ज़हीर अहमद,मंज़ूर खान, शान रज़ा, तारिक सईद,आलेनबी, इशरत नूरी,सय्यद फ़रहत, हाजी अब्बास नूरी,गौहर खान,अदनान खान,काशिफ खान, आसिफ रज़ा, सय्यद माजिद, ज़ोहिब रज़ा, यूनुस गद्दी,अनीस खान,सबलू रज़ा, फ़ैज़ी खान,काशिफ सुब्हानी,समीर रज़ा,साकिब रज़ा,अमन रज़ा, शाद रज़ा,इरशाद रज़ा, रईस रज़ा, अश्मीर रज़ा, मुजाहिद बेग,खलील क़ादरी,सुहैल रज़ा, जुनैद मिर्ज़ा,आसिफ नूरी,आरिफ नूरी,शारिक बरकाती आदि लोग लगे है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button