Uncategorized

दुबौलिया प्रकरण S.P ने दरोगा अशोक त्रिवेदी को निलंबित कर दिए जांच के आदेश

 

बस्ती जिला एक बार फिर बस्ती पुलिस के कारनामें की वजह से सुर्खियों में है। मामला दुबौलिया थाना के ऊंजी गांव से जुड़ा है जहां पर ग्रामीणों ने एक दरोगा को जमकर पीटा फिर उसे लकड़ी के पोल से बांध दिया। ग्रामीणों के अनुसार दरोगा का गांव के एक युवती से अनैतिक संबंध था जिससे वह रात में अक्सर मिलने आता था और जब ग्रामीणों को इसकी भनक लगी तो उन्होंने इस आशिक मिज़ाज दरोगा पर नज़र रखना शुरू कर दिया और बीती रात जब वह दरोगा अपने पल्सर मोटरसाइकिल से गांव में पहुंचा जिसको वह गांव के प्राइमरी स्कूल के बाहर खड़ा कर उस युवती के घर में घुस गया। इसी बीच ग्रामीणों को बिना वर्दी में आये दरोगा की भनक लग गयी और वे सभी युवती के घर के बाहर पहुंच गए और दरोगा को घर से बाहर निकालने की बात करने लगे। आशिक मिजाज दरोगा अपने आप को फंसता देख घर से निकलते हीं हवाई फाईरिंग शुरू कर दिया जिससे ग्रामीणों का गुस्सा उग्र रूप ले लिया और दरोगा को पकड़ कर जमकर पिटाई कर दी। ग्रामीणों की सूचना पर 112 और थाना दुबौलिया प्रभारी पुलिस बल सहित मौके पर पहुंच कर आरोपी दरोगा को अपने कब्जे में लिया। थाना प्रभारी ने ग्रामीणों का बयान लेकर आगे की कार्यवाही शुरु कर दिया है। मालूम हो पिछले साल भी एक आशिक मिजाज दरोगा का मामला सामने आया था जिसमें मुख्यमंत्री योगी के आदेश पर एडीजी गोरखपुर की अध्यक्षता में जांच हुई और उस मामले में आरोपी दरोगा कसूरवार पाया गया। यह मामला अभी ठंडा भी नहीं हुआ था कि बस्ती पुलिस पर ड्यूटी के दौरान अपहरण और लूट का आरोप लगा और अब एक बार फिर बस्ती पुलिस में कार्यरत दरोगा ने अपने हीं महकमें पर फिर दाग लगा दिया। एसपी आशीष श्रीवास्तव ने दरोगा अशोक चतुर्वेदी की जांच कर कार्रवाई का आदेश दे दिया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button