उत्तर प्रदेश

पीएचसी पर मरीज शोषण का शिकार, लिखी जा रही बाहर की दवाएं और जांच

कुदरहा, बस्ती। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा बाहर की दवा लिखने एवं जांच के नाम पर मरीजों, तीमारदारों का लगातार शोषण की शिकायत पर भाजपा पिछड़ा मोर्चा के जिलाध्यक्ष ने स्वास्थ्य केंद्र पर पहुच कर मरीजों का हाल जाना। अधिकांश मरीजों ने हजारों रुपये की बाहर की दवा व जांच कराने की उनसे षिकायत की।
पिछड़ा मोर्चा जिलाध्यक्ष ब्रह्मदेव यादव देवा से इलाज कराने आई जमालपुर निवासिनी सरोज देवी ने बताया कि उसकी 14 वर्षीय पुत्री रिप्सी को दस दिनों से बुखार था। एक सप्ताह टाइफाइड की दवा किए, अब मलेरिया का कर रहे है। कोई आराम नहीं है। दवा व ब्लड की जांच बाहर की लिखे थे। दो हजार रुपया खर्च हो गया लेकिन आराम नही मिला। पहले के डाक्टर साहब आज आये भी नही है और फोन भी नहीं उठा रहे है।
मरीज नैन्सी, राधेश्याम, राहुल ने बताया कि कुछ दवा अंदर से मिला है और कुछ बाहर से लेना पड़ा। जिस पर देवा ने ओपीड़ी देख रहे डा० राम प्रकाश से बाहर की जांच व दवा के बारे में पूछा तो उहोंने बताया कि आज ओपीडी देखने की जिम्मेदारी मिली है। किसी भी मरीज की जांच बाहर से उनके द्वारा नही लिखा गया है। बाहर की लिखी दवा पर्ची और जांच दिखाया गया तो उन्होंने बताया कि एक पर्चा डा० शशि और दूसरा फार्माशिष्ट जेपी वर्मा का है। वही लैव में जांच कर रहे एलए मिठाई लाल ने बताया कि प्राथमिक उपचार की सभी जांचे है। मेरे पास निःशुल्क जांच होती है।
पिछड़ा मोर्चा के जिलाध्यक्ष ब्रह्मदेव यादव देवा ने कहा कि जो भी षिकायत मिली है उससे स्वास्थ्य मंत्री व उच्च अधिकारियों को अवगत कराएंगे। मरीजो का शोषण नहीं होने दिया जाएगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button