उत्तर प्रदेश

नारायणी नदी के कटान से किसानो का फसल हुआ बर्बाद किसानो ने उपजिलाधिकारी को सौपा ज्ञापन

 

नेबुआ नौरंगिया कुशीनगर विकासखंड खड्डा के मौजा हनुमानगंज में नारायणी नदी के कटान से किसानों के फसल नदी में विलीन हो गई जिसके कारण किसानों के अरमानों पर पानी फिर गया साथ ही साथ लगभग 60 झोपड़िया नदी में कटकर विलीन हो गई बताते चलें कि लगातार भारी बारिश होने के कारण नारायणी नदी का जलस्तर बढ़ता घटता रहा जिससे बाढ़ की स्थिति भी उत्पन्न हो गया जिसमें किसानों के गन्ना धान और मुख्य व्यवसाय किसानों के लिए केला जो नारायणी नदी के बाढ़ में समाहित हो गई आज की स्थिति यह हैl
कि दो रोटी के भी लाले पड़े हुए है नारायणी नदी के उस पार बाल गोविंद छपरा के किसानों का कहना है की एक तो पहले कोरोना संक्रमण ने कमर तोड़ी तो दूसरी बार महंगाई और कुछ बचा तो प्राकृतिक आपदा ने पूरी तरह किसानों को ध्वस्त कर दिया इस संबंध में बेचू मद्धेशिया प्रीतम मद्धेशिया शेर बहादुर हरिशंकर मुन्ना हरिंदर और दर्जनों किसानों ने उप जिला अधिकारी खड्डा को प्रार्थना पत्र देकर अवगत कराते हुए अपनी दयनीय स्थिति बताईl

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button