Uncategorizedउत्तर प्रदेश

मण्डी परिषद द्वारा संचालित योजनाओं का लाभ उठायें किसान – आशुतोष निरंजन

देवरिया- मण्डी परिषद द्वारा कृषकों के हित के लिए अनेक कल्याणकारी योजनायें संचालित है। इन योजनाओं के माध्यम से कृषकों के दुर्घटनावश मृत्यु, अपंगता की दशा में सहायता धनराशि दिये जाने की व्यवस्था है, वही खेत खलिहान में अग्निकाण्ड से हुई क्षति के संबंध में भी आर्थिक सहायता दिये जाने का प्राविधान है। इन योजनाओं की कृषक जानकारी रखें, जिससे कि वे परिस्थिति अनुसार उसका लाभ ले सकें।
           यह जानकारी जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने देते हुए संचालित योजनाओं के विवरण में बताया कि मण्डी परिषद द्वारा मण्डी समितियों के माध्यम से कृषकों, लाईसेन्सी व्यापारियों/आढ़तियों के हितार्थ कल्याणकारी योजनाएं चलायी जा रही है।  मुख्यमंत्री कृषक दुर्घटना सहायता योजना के द्वारा कृषक, खेतिहर मजदूर एवं मण्डी समिति से लाइसेंस प्राप्त पल्लेदारों, तौलक/मापक जो केवल कृषि अथवा कृषि से संबंधित कार्य  जुडे है, वे इस योजना से आच्छादित होगें।  इसके  अन्तर्गत दुर्घटना द्वारा मृत्यु होने पर रु0 03 लाख, दुर्घटना द्वारा दोनो पैर, दोनो हाथ या दोनो आँखे या उपरोक्त में से कोई दो की क्षति होने पर 75 हजार रुपये की आर्थिक सहायता देय है। उसी तरह एक हाथ, एक पैर अथवा एक आँख के क्षति पर 40 हजार रुपये, दुर्घटना द्वारा एक हाथ की एक साथ 04 अंगुली क्षति होने पर 30 हजार रुपये, दुर्घटना द्वारा तीन अंगुली की क्षति पर 25 हजार, अँगूठे की क्षति पर 20 हजार, दुर्घटना द्वारा एक हाथ की दो अँगुली क्षति पर 15 हजार रु0 तथा किसी एक अँगुली की क्षति पर 05 हजार रुपये की सहायता धनराशि इस योजना के तहत दी जाती है।
             मुख्यमंत्री खेत-खलिहान अग्निकाण्ड दुर्घटना सहायता योजना के तहत  मण्डी समितियों के क्षेत्रान्तर्गत खलिहान में एकत्रित फसल एवं खेत में खडी फसल में अग्नि दुर्घटना में हुई क्षति के लिये कृषकों को दिये जाने वाले आर्थिक सहायता के तहत एक हेक्टेयर की क्षतिग्रस्त फसल के लिये अधिकतम 30 हजार, एक हेक्टेयर से दो हेक्टेयर अधिकतम 40 हजार, 2 हेक्टेयर से अधिक फसल क्षतिग्रस्त होने की दशा में अधिकतम 50 हजार की अथवा वास्तविक आॅकलित क्षति जो भी कम हो, वह कृषकों को मण्डी समिति द्वारा इस योजना के तहत दी जाती है।
           मुख्यमंत्री कृषक उपहार योजना के तहत कृषक उत्पादकों की सहभागिता बढाये जाने के लिये नवीन मण्डी स्थलों में कृषि का विक्रय दशा में प्रवेश पर्ची एवं प्रपत्र संख्या 6 के आधार पर कृषको को 5 हजार मूल्य पर ईनामी कूपन निर्गत कर त्रैमासिक व छमाही ड्रा द्वारा उपहार दिये जाने की व्यवस्था है। त्रैमासिक ड्रा के तहत प्रथम उपहार के रुप में 8 हार्स पावर का किर्लोस्कर पम्पिसेट प्रथम एवं तृतीय त्रैमास में दिये जायेगें, द्वितीय चतुर्थ त्रैमास में रोटावेटर, द्वितीय उपहार के रुप में हैप्पी सिडर, तृतीय उपहार के लिये पावर स्प्रेयर, चतुर्थ उपहार के लिये मिक्सर ग्राइण्डर इस योजना के तहत दी जायेगी। छमाही बम्पर ड्रा के तहत प्रथम उपहार के लिये 35 हार्सपावर ट्रैक्टर, द्वितीय उपहार के लिये पावर टिलर और राउन्ड स्ट्रावेलर, तृतीय एवं चतुर्थ उपहार के लिये भी प्राविधानित कृषि यंत्र दिये जायेगें।
        मुख्यमंत्री कृषक छात्रवृत्ति योजना, मुख्यमंत्री कृषि उत्पादन मण्डी समिति के व्यापारी एवं आढती दुुर्घटना सहायता योजना, मुख्यमंत्री मण्डी स्थल/उप मण्डी स्थल अग्निकाण्ड दुर्घटना सहायता योजना, मूल्य समर्थन को प्रोत्साहित करने हेतु किसानो एवं व्यापारियों हेतु योजना संचालित मण्डी समिति द्वारा की गयी है। कृषक इन योजनाओं को जाने और उसका लाभ उठायें। जिलाधिकारी ने मण्डी समिति के अधिकारियो/कर्मचारियों को निर्देश दिया है कि संचालित योजनाओं में किसी प्रकार की कोई कोताही न बरतें, उसका लाभ पात्रता अनुसार कृषकों को पुहॅचायें। उन्होने कृषकों से ऐसे किसी योजना का लाभ लेने के लिये विशेष जानकारी हेतु मण्डी समिति के सचिव से सम्पर्क कर प्राप्त करने को कहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button